आयुष्मान कार्ड से ओमिक्रोन का होगा फ्री इलाज या देने होंगे पैसे? ये है सभी नियम और शर्तें

Ayushman Bharat Golden Card: देश में स्वास्थ्य सुविधाओं (Health Facility) को सरल और फ्री बनाने के मकसद से केंद्र सरकार ने आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड (Ayushman Bharat Golden Card) की शुरुआत की है. कार्ड के जरिए हर कार्ड धारक को 5 लाख रुपये (Health Card) तक का फ्री इलाज (Free Health Facility) मिलेगा. इस कार्ड की मदद से गरीब और मध्यम वर्ग के लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं देने की पहल शुरू की गई है. बता दें कि इस कार्ड के जरिए कई बीमारियों का फ्री इलाज का प्रावधान है. पिछले कुछ दिनों से देश में ओमिक्रोन वेरिएंट (Omicron Variant in India) का संक्रमण बहुत तेजी से बढ़ा है. ऐसे में मन में यह सवाल उठ जरूर उठ रहा है कि कोरोना के ओमिक्रोन वेरिएंट (Omicron Variant) से संक्रमित होने पर आपको और आपके परिवार को मुफ्त इलाज मिलेगा या नहीं?  

कोरोना संक्रमितों का होता है फ्री इलाज
आपको बता दें कि आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Yojana) के तहत देश के गरीब, वंचित और कमजोर तबके के लोगों का बिल्कुल फ्री इलाज किया जाता है. इसके द्वारा देश के करीब 10 करोड़ परिवारों को इसका लाभ मिल रहा है. इस कार्ड के जरिेए कोरोना संक्रमितों और ओमिक्रोन वेरिेएंट से संक्रमित व्यक्ति का बिल्कुल फ्री (Free Health Checkup) इलाज किया जाएगा. लेकिन, इस कार्ड का लाभ उठाने के लिए आपको कुछ जरूरी पात्रताएं पूरी करनी होगी.

ये भी पढ़ें: Financial Planning: कहीं आप भी तो नहीं फंस गए हैं लोन के जाल में? इन टिप्स को अपनाकर पाएं कर्ज से मुक्ति

आयुष्मान गोल्डन कार्ड का लाभ इन्हें मिलेगा-
अगर कोई व्यक्ति ग्रामीण इलाके में रहता है तो वहीं लोग इस कार्ड का लाभ उठा सकते हैं जिनका कच्चा मकान हो. इसके अलावा घर में कोई भी 16-59 साल का व्यक्ति ना हो, घर की मुखिया महिला हो, घर में कोई दिव्यांग हो, परिवार अनुसूचित जाति/जनजाति (SC/ST) से हों या व्यक्तिदिहाड़ी मजदूर या बेघर, निराश्रित, दान या भीख मांगने वाला, आदिवासी या कानूनी रूप से मुक्त हुआ बंधुआ मजदूर इस कार्ड का लाभ उठा सकता है.

ये भी पढ़ें: LIC Policy: अपने बच्चे के भविष्य को करना चाहते हैं सुरक्षित? एलआईसी के इस प्लान में करें निवेश, मिलेगा 26 लाख का रिटर्न

आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड बनवाने की प्रक्रिया-
-आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड बनवाने के लिए सबसे पहले आप पब्लिक सर्विस (Public Service Center) सेंटर में जाएं.
-इसके बाद आपका नाम केंद्र के अधिकारी द्वारा चेक किया जाएगा.
-अगर आपका नाम लाभार्थियों के लिस्ट में नाम होगा तो आपको आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड मिल जाएगा.
-इसके बाद आपको आधार कार्ड, पैन कार्ड, रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर (Registered Mobile Number), राशन कार्ड (Ration Card)  फोटो कॉपी, पास पोर्ट साइज फोटो जैसी सभी चीजें जमा करनी होगी.
-इसके बाद आपका नाम रजिस्टर हो जाएगा.
-इसके बाद आपको रजिस्ट्रेशन नंबर (Registration Number) और पासवर्ड (Password) भी दिया जाएगा.
-15 दिन के बाद आप आपका आयुष्मान भारत गोल्डन कार्ड मिल जाएगा.