महाराष्ट्र में पाबंदियों पर कब तक दी जा सकती है छूट, जानिए स्वास्थ्य मंत्री ने क्या कहा

 

Maharashtra Covid-19: महाराष्ट्र इस समय देश का सबसे ज्यादा कोरोना प्रभावित राज्य है. यहां नए वेरिएंट ओमिक्रोन के मामले भी सबसे ज्यादा दर्ज किए गए हैं. ऐसे में गंभीर हालात को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा कई प्रतिबंध लगाए गए हैं. वहीं बुधवार को स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि राज्य में कोविड के मामलों में इजाफे को देखते हुए, अगले महीने के मिडिल तक प्रतिबंधों में कोई ढील नहीं दी जा सकती है.

वायरल प्रसार को कम करना है प्राथमिकता

वहीं स्वास्थ्य मंत्री ने ये भी कहा कि, “विशेषज्ञों का मानना है कि प्रतिबंध लगाकर और टीकाकरण की स्पीड बढ़ाकर संक्रमण के प्रसार को कम किया जा सकता है. फिलहाल प्राथमिकता वायरल प्रसार को कम करना है. अब छोटे शहरों में भी मामलों बढ़ने लगे हैं.” बता दें कि राज्य में टीकाकरण धीमा होने और हाल ही में लगाए गए प्रतिबंधों पर बुधवार को राज्य कैबिनेट की बैठक में भी चर्चा हुई थी. इस पर उन्होंने कहा कि, “कैबिनेट सदस्यों की राय थी कि स्कूल और कॉलेज बंद रहना चाहिए. हम रोजाना आंकड़े देख रहे हैं और उचित तरीके से फैसले लिए जाएंगे.”

सभी टीकाकरण कराएं इसके लिए सख्त कदम उठाए जाएंगे

उन्होंने कहा कि कैबिनेट ने राज्य में टीकाकरण की कम दर पर नाराजगी जाहिर की है. लोग ज्यादा से ज्यादा टीकाकरण कराएं इसे सुनिश्चित करने के लिए सख्त कदम उठाए जाएंगे. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि, “यह सही नहीं है कि लोग राज्य द्वारा दी जाने वाली राशन जैसी रियायतें लेते हैं और टीकाकरण कराने के लिए आगे नहीं आते हैं. हो सकता है कि हम टीकाकरण को अनिवार्य न कर पाएं, लेकिन जिलों को व्यापक जन स्वास्थ्य के हित में सख्त कदम उठाने के लिए कहा गया है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि सभी का टीकाकरण हो सके” बता दे कि राज्य में करीब 98 लाख लोगों को अभी तक वैक्सीन की एक भी खुराक नहीं मिली है.

ये भी पढ़ें

Mumbai Covid-19: कोरोना को लेकर BMC कमिश्नर का बड़ा बयान, ऑक्सीजन बेड पर भर्ती मरीजों को लेकर बतायी बड़ी बात

Maharashtra Petrol-Diesel Price Today: महाराष्ट्र के मुंबई, पुणे, नासिक और नागपुर सहित तमाम शहरों में आज 1 लीटर पेट्रोल-डीजल की क्या है कीमत, जानिए यहां