क्या मध्य प्रदेश में और बढ़ाई जाएगी पाबंदियां? सीएम शिवराज सिंह चौहान ने कही ये बड़ी बात

Corona Restrictions: मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh) के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) ने लॉकडाउन (Lockdown) को लेकर बड़ा बयान दिया है. उन्होंने कहा कि सरकार की योजना जनता पर किसी नयी पाबंदी को लादने की नहीं है. उन्होंने कहा है कि राज्य में कोरोना (Coronavirus) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं ऐसे में सरकार के पास नए मामलों को संभालने के लिए सरकार की ओर से पूरी व्यवस्था कर ली गई है. मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना पर नयी शर्तें और कड़े नियम लगाने आसान हैं मगर इससे अर्थव्यवस्था पर बुरा असर पडता है. उन्होंने कहा कि मुश्किल से आर्थिक की गाड़ी पटरी पर आयी है इसलिए जब तक संभव होगा नई पाबंदियों को टाला जायेगा.

उन्होंने कहा कि सरकार कोरोना के बढ़ते मामलों पर रोज नजर रख रही है. मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें उम्मीद है कि जैसे महाराष्ट्र में अब मामले कम हो रहे हैं तो हमारे रिसर्च के मुताबिक जनवरी के अंत तक मध्य प्रदेश में भी कोरोना के नए मामले पीक पर आ जाएंगे उसके बाद मामले घटने लगेंगे इसलिये कुछ दिनों की सतर्कता बरती जाए.

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बताया कि अभी तकरीबन तीन हजार नये केस आने लगे हैं. विशेषज्ञ आशंका जता रहे हैं कि बुरे दिनों में ये केस दस से बीस हजार एक दिन में भी हो सकते हैं. मगर राहत की बात ये ही है कि इनमें से अस्पताल जाने वालों की संख्या कम है. लोग होम आइसोलेशन में ही ठीक हो रहे हैं और जो अस्पताल जा रहे हैं उनमें भी गंभीर हालत वाले मरीजों की संख्या बेहद कम है इसलिये अभी अस्पतालों पर बोझ नहीं पड़ रहा है.

उन्होंने बताया कि जितने नये केस का अनुमान है उसके लिये तैयारियां कर ली गयी है. अस्पतालों पर बोझ कम करने के लिये जिलों में आइसोलेशन कोविड सेंटर बना दिये गये हैं. स्कूलों में आधी उपस्थिति से काम हो रहा है. पिछले दो साल बच्चों के अच्छे नहीं गये इसलिये स्कूलों को बंद करने के बारे में बार-बार सोचा जा रहा है.

मुख्यमंत्री ने भरोसा दिलाया कि कोविड के हालत उतने चिंताजनक नहीं है जितने दूसरे राज्यों में है. मध्य प्रदेश मे टीकाकरण का काम अच्छे स्तर पर हुआ है. इसलिये ये फर्क दिख रहा है. उन्होंने बताया कि पहला डोज 96 प्रतिशत और दूसरा डोज 92 फीसदी लोगों को लग चुका है. किशोर उम्र के बच्चों के लिए तेजी से टीके लगाये जा रहे है ये काम 15 जनवरी तक पूरा कर लिया जायेगा.

Gangasagar Mela को लेकर Mamata Banerjee की अपील- न पहुंचे ज्यादा लोग

Arvind Kejriwal ने Punjab में किए ये 10 वादे, शुरू किया डोर टू डोर कैम्पेन