बेस्ट ने उठाए सख्त कदम, पूरी तरह वेक्सिनेटेड ड्राइरवर ही चला सकेंगे बस


<p style="text-align: justify;">कोरोना को लेकर महाराष्ट्र में अब सख्ती बढ़ती दिख रही है. हाल ही में बेस्ट के जनरल मैनेजर ने सख्ती दिखाते हुए कहा है कि जो बस ड्रावरर्स पूरी तरह से वेक्सिनेटेड नहीं होंगे उन्हें रेड बस का संचालन नहीं करने दिया जाएगा. ये सख्ती केवल बेस्ट के अंतर्गत आने वाली बसों पर ही नहीं बल्कि प्राइवेट लीज पर चल रही बसों पर भी लागू होगी.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;">बेस्ट के जरनल मैनेजर लोकेश चंद्रा ने कहा, ”मैंने अपने स्टाफ को कहा कि वो भी ये सुनिश्चत करें कि सभी ड्राइवर, कंडक्टर और टिकट चेक करने वाले कर्मचारियों को जल्द से जल्द पूरी तरह वेक्सिनेट किया जाए. साथ ही यदि ड्राइवर या कंडक्टर सही प्रकार से मास्क लागए नहीं पाए जाएंगे तो उन पर सख्त एक्शन लिया जाएगा.” &nbsp;इतना ही नहीं साथ ही उन्होंने कहा कि बसों में सफर करने वाले यात्री भी इसे लेकर अपना फीडबैक दे सकते हैं. साथ ही ठीक प्रकार से मास्क न पहने वाले ड्राइवर व कंडक्टर की तस्वीर भेजकर शिकायत भी कर सकते हैं.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;">बेस्ट तो अपने कर्मचारियों पर सख्ती दिखा ही रहा है. साथ ही स्वयं बेस्ट के कर्मचारी भी कोरोना की इस नयी लहर को खासा चिंतित हैं. बेस्ट कंडक्टर्स का कहना है कि उनके कोरोना की चपेट में आने की बहुत अधिक संभावना है क्योंकि सुबह और शाम के समय बसें पूरी तरह से भरकर चलती हैं. ऐसे में कोरोना प्रोटोकॉल्स का पालन सही तरीके से नहीं हो पाता.&nbsp;</p>
<p style="text-align: justify;"><strong>मुंबई में एक्टिव केसों में आई कमी</strong></p>
<p style="text-align: justify;">पूरे देश में यूं तो कोरोना लगातार पैर पसार रहा है, लेकिन इसी बीच मुंबई के लोगों के लिए कुछ राहत भरी खबर सामने आई है. मुंबई में बीते कुछ दिनों से लगातार केसों में बढ़ोतरी दर्ज की जा रही थी. हालांकि सोमवार को कोरोना के नए केसों में कमी दर्ज की गई है. मुंबई में सोमवार को 13648 नए केस दर्ज किए गए हैं. जबकि रविवार को मुंबई में 19474 नए संक्रमित केस आए थे.&nbsp;</p>