5 राज्यों में वैक्सीन सर्टिफिकेट से हटी PM मोदी की तस्वीर, जानिए क्या है कारण

Vidhan Sabha Chunav 2022: यूपी, पंजाब, उत्तराखंड, गोवा और मणिपुर में अगले महीने विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) होने हैं. इन राज्यों में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने आदर्श आचार संहिता (Model Code of Conduct) का पालन करने के लिए कोविड-19 वैक्सीन सर्टिफिकेट (Covid-19 Vaccine Certificate) से पीएम नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) की तस्वीर हटा दी है. न ही पीएम मोदी का नाम लिखा है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने पीएम मोदी की तस्वीर हटाने के लिए CoWin प्लेटफॉर्म पर जरूरी फिल्टर लगा दिया है.

पांच चुनावी राज्यों में आदर्श आचार संहिता लागू होने के कारण कोविड-19 टीकाकरण प्रमाणपत्रों से प्रधानमंत्री की तस्वीर हटाने के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय कोविन प्लेटफॉर्म पर फिल्टर लगाया है. आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद नेता और राज्य सरकारें मात्र कार्यवाहक सरकार के तौर पर काम करती हैं. आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद कोई भी मंत्री या राज्य सरकार से संबद्ध नेता किसी तरह की घोषणा नहीं कर सकते. आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद अब सारी जिम्मेदारी प्रशासनिक अधिकारियों की होती है

क्यों लागू होती है आदर्श आचार संहिता

देश या फिर राज्य में पूरी तरह से निष्पक्ष चुनाव कराए जाने के लिए ही चुनाव आयोग कुछ नियमों को लागू करता है, जिसे ही आदर्श आचार संहिता कहते हैं. आदर्श आचार संहिता लागू होने के बाद सभी नेता, मंत्री और राजनीतिक दलों को इन नियमों का पालन करना सबसे ज्यादा जरूरी होता है. जिसके तोड़ने पर चुनाव आयोग उनके खिलाफ कार्रवाई कर सकता है. फिलहाल मतदान के बाद वोटों की गिनती होने तक आदर्श आचार संहिता लागू रहती है.

चुनाव आयोग (Election Commission) ने शनिवार को घोषणा की थी कि उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, मणिपुर और गोवा में विधानसभा चुनाव 10 फरवरी से 7 मार्च के बीच सात चरणों में होंगे और मतगणना 10 मार्च को होगी. चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही सरकारों, उम्मीदवारों और राजनीतिक दलों के लिए आदर्श आचार संहिता लागू हो गई है.

ये भी पढ़ें

UP, पंजाब और उत्तराखंड से लेकर मणिपुर-गोवा तक, कहां कौन बना रहा है सरकार? एक क्लिक में जानें सबकुछ

ABP Opinion Poll: बीजेपी को नुकसान, SP बहुमत से दूर, प्रियंका गांधी का फॉर्मूला बेअसर, पढ़ें UP के ओपिनियन पोल की 10 बड़ी बातें