मुंबई में कोरोना का कहर जारी, रेलवे के 300 से ज्यादा कर्मचारी पाए गए पॉजिटिव

Corona in Railway :  देशभर में कोरोना लोगों को एक बार फिर अपनी चपेट में लेता दिख रहा है. तीसरी लहर में कोरोना वॉरियर्स भी तेजी से कोरोना की चपेट में आ रहे हैं. हाल ही में रेवले कर्मचारियों के रैंडम टेस्ट किए गए जिनमें कई लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए. इसमें रेलवे पुलिस के साथ-साथ ट्रेफिक और मुंबई पुलिस के भी कई अधिकारी शामिल हैं. 

जानाकारी के मुताबिक लोअर परेल में वेस्टर्न रेलवे के करीब 500 कर्मचारियों का कोविड टेस्ट करवाया गया. इसमें करीब 62 कर्मचारी कोविड पॉजिटिव पाए गए. वहीं एक और चरण में 800 लोगों का महालाक्ष्मी वर्कशॉप में कोविड टेस्ट किया गया जिनमें 190 कर्मचारी पॉजिटिव पाए गए. कर्मचारियों के कोविड पॉजिटिव पाए जाने के बाद रेलवे लगातार सेनिटाइजेशन में लगा हुआ है. वहीं सेट्रल रेवले में भी कुल 90 कर्मचारी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं. इनमें 15 सीनियर अफसर सहित 75 अन्य कर्मचारी शामिल हैं. जानकारी के मुताबिक रेलवे के करीब 342 कर्मचारी कोविड पॉजिटिव पाए गए हैं. 

मुंबई पुलिस के जवान भी हो रहे संक्रमित

सिर्फ रेलवे ही नहीं बल्कि मुंबई पुलिस के जवान भी लगातार कोरोना की चपेट में आते जा रहे हैं. ताजा जानकारी के मुताबिक पिछले आठ दिनों में अब तक कुल 523 मुंबई पुलिस कर्मचारी कोरोना की चपेट में आ चुके हैं. एएसआई भाटी जो कि गोरेगांव के एक पुलिस कैंप में रहते हैं, को आनन फानन में अस्पताल में भर्ती करवाया गया. जानकारी के मुताबिक शनिवार सुबह 3 बजे उन्हें सीने में दर्द की शिकायत के चलते लीलावटी अस्पताल में भर्ती करवाया गया था.

हालांकि उनकी जान नहीं बचाई जा सकी और सुबह करीब 5 बजकर 12 मिनट पर उन्होंने आखिरी सांस ली. नवी मुंबई पुलिस कमिश्नर बिपिन कुमार सिंह ने बताया कि नवी मुंबई पुलिस कमिश्ननरेट में कुल 99 कर्मी कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं जिनमें 21 पुलिस अफसर और 78 कॉन्स्टेबल शामिल हैं. इनमें महिला पुलिसकर्मी भी शामिल हैं. 

बेस्ट कर्मचारियों में भी है डर 

पुलिस और रेलवे के साथ-साथ बस सेवा और टेक्सी चालक भी कोरोना को लेकर चिंतित हैं. बेस्ट कंडक्टर्स का कहना है कि उनके कोरोना की चपेट में आने की बहुत अधिक संभावना है क्योंकि सुबह और शाम के समय बसें पूरी तरह से भरकर चलती हैं. ऐसे में कोरोना प्रोटोकॉल्स का पालन सही तरीके से नहीं हो पाता.