ZEEL-SONY का मर्जर फाइनल स्टेज में पहुंचा, $2 अरब होगा नई कंपनी का रेवेन्यू, पुनीत गोयनका बोले- सब कुछ ट्रैक पर

नई दिल्ली: ZEE-Sony merger: मीडिया और एंटरटेनमेंट कंपनी Zee Entertainment Enterprises Ltd (ZEEL) के मैनेजिंग डायरेक्टर और CEO पुनीत गोयनका (Punit Goenka) ने कहा है कि सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया (Sony Pictures Networks India) के साथ प्रस्तावित मर्जर में सब कुछ ट्रैक पर है और पूरा होने की फाइनल स्टेज तक पहुंच चुका है.

नई कंपनी का रेवेन्यू 2 अरब डॉलर का होगा

APOS India Summit में गोयनका ने कहा कि मर्जर से मीडिया और एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री को हमेशा फायदा हुआ है. गोयनका ने कहा, ‘मेरा निश्चित रूप से मानना है कि इस कंसॉलिडेशन से पूरी इंडस्ट्री का फायदा होगा.’ Zee और Sony के मर्जर से देश की सबसे बड़ी एंटरटेनमेंट कंपनी बनेगी. हमारा रेवेन्यू स्टैंडअलोन आधार पर करीब 2 अरब डॉलर का होगा. साथ ही मर्जर के बाद बनने वाली कंपनी में Sony जो पूंजी लगाएगी, उससे हमें स्पोर्ट्स समेत दूसरे प्रीमियम कंटेंट में ज्यादा निवेश करने का मौका मिलेगा.

गोयनका बोले- मौका शानदार है

पुनीत गोयनका ने कहा, ‘दोनों कंपनियों का बिजनेस लगभग मिलता जुलता है और कुछ मामलों में ओवरलैप भी करता है. Zee ने 2017 में Ten Sports को Sony को बेचा था. हालांकि, अब मर्जर के बाद नई कंपनी में स्पोर्ट्स जेनर की फिर से वापसी होगी.’ ‘मौका शानदार है. डिजिटल दुनिया ने पैसे कमाने के नए स्रोत बनाए हैं, जो लगभग 5 साल तक नहीं मौजूद था. सिर्फ इस सेक्टर में ही काफी कुछ नए चीजें हो रही हैं. ऐसे में निश्चित रूप से नई कंपनी के लिए स्पोर्ट्स भी एक नया फोकस एरिया होगा.’

TV में निवेश जारी रखेगी ZEE

गोयनका ने कहा कि भारत निकट भविष्य में TV और डिजिटल के लिए बड़ा बाजार बना रहेगा. एक कंपनी के रूप में Zee अपनी डिजिटल उपस्थिति को बढ़ाने और उसके साथ लिनियर टीवी में निवेश करना जारी रखेगी.

शेयर बाजार में लिस्ट होगी नई कंपनी

ज़ी एंटरटेनमेंट-सोनी पिक्चर्स नेटवर्क्स इंडिया के बीच मर्जर का ऐलान 22 सितंबर 2021 को किया गया था. ZEEL-Sony मर्जर के बाद बनने वाली कंपनी में 11,605.94 करोड़ रुपए निवेश करेगी. पुनीत गोयनका मर्जर के बाद बनने वाली कंपनी के मैनेजिंग डायरेक्टर (MD) और CEO बने रहेंगे. मर्जर के बाद ज़ी एंटरटेनमेंट के पास 47.07 फीसदी हिस्सेदारी रहेगी. सोनी पिक्चर्स के पास 52.93 फीसदी हिस्सेदारी होगी. मर्जर कंपनी को भी शेयर बाजार में लिस्ट कराया जाएगा.

बोर्ड डायरेक्टर को नॉमिनेट करेगा सोनी ग्रुप

दोनों कंपनी के TV कारोबार, डिजिटल एसेट्स, प्रोडक्शन ऑपरेशंस और प्रोग्राम लाइब्रेरी को भी मर्ज किया जा रहा है. ZEEL और SPNI के बीच एक्सक्लूसिव नॉन-बाइंडिंग टर्म शीट का करार हुआ है. मौजूदा प्रोमोटर फैमिली Zee के पास अपनी शेयरहोल्डिंग को 4 फीसदी से बढ़ाकर 20 फीसदी करने का विकल्प होगा. बोर्ड में ज्यादातर डायरेक्टर को नॉमिनेट करने का अधिकार सोनी ग्रुप के पास होगा.