2019 के पहले खरीदी है कार-बाइक? 30 सितंबर से पहले करा लें ये काम वरना लगेगा भारी जुर्माना

नई दिल्ली: अगर आपके पास भी गाड़ी है तो आपके लिए ये खबर बेहद काम की है. अप्रैल 2019 से पहले खरीदी गई कार-बाइक पर 30 सितंबर से पहले हाई सिक्योरिटी लाइसेंस प्लेट लगवाना अनिवार्य कर दिया गया है. अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपको भारी जुर्माना देना पड़ सकता है. पहले कई राज्यों में इसकी समय सीमा 15 अप्रैल ही थी लेकिन कोरोना की स्थिति देखते हुये इसे बढ़ा दिया गया था. लेकिन अब 30 सितंबर को इसकी लास्ट डेट है. 

हाई सिक्‍योरिटी रजिस्‍ट्रेशन प्‍लेट क्या है?

दरअसल, हाई सिक्‍योरिटी रजिस्‍ट्रेशन प्‍लेट एक होलोग्राम स्टीकर होता है. जिसमें वाहन के इंजन और चेसिस नंबर होते हैं. इस नंबर को हाथ से नहीं बल्कि प्रेशर मशीन से लिखा जाता है. यह दो पहिया और चार पहिया दोनों वाहनों के लिए जरूरी है. ये इसलिए भी जरूरी है क्योंकि हाई सिक्‍योरिटी रजिस्‍ट्रेशन प्‍लेट में किसी भी तरह की छेड़छाड़ संभव नहीं है.

सबसे खास बात कि आप घर बैठे ही ऑनलाइन हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट के लिए आवेदन कर सकते हैं. आइए जानते हैं कैसे आप आप हाई सिक्योरिटी लाइसेंस प्लेट और नंबर प्लेट के लिए आवेदन कर सकते हैं. 

ये भी पढ़ें- 1 अक्टूबर से नहीं चलेगी पुरानी Cheque Book, इन बैंकों में है आपका अकाउंट तो तुरंत बैंक से करें संपर्क 

HSRP के क्या होंगे फायदे?

– पूरे देश में सभी वाहनों की नंबर प्लेट एक जैसी होंगी.
– नंबर प्लेट में कोई किसी तरह का बदलाव नहीं कर पाएगा.
– नंबर प्लेट में छेड़छाड़ कर वाहनों के गलत इस्तेमाल और चोरी पर अंकुश लगेगा.
– सड़क संबंधी अपराधों से निपटने में अधिकारियों को कानून लागू करने में सहायता मिलेगी.
– HSRP के जरिेए अवैध नंबर प्लेटों की बिक्री पर रोक लगेगी.
– नंबर प्लेट के जरिए ही पुलिस को आपके वाहन की पूरी जानकारी मिल जाएगी.
– डेटा का डिजिटलीकरण होगा

ये भी पढ़ें- Swiggy-Zomato से खाना मंगाना होगा महंगा, GST काउंसिल कमेटी ने की सिफारिश

कैसे बुक कराएं HSRP नंबर प्लेट 

हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट की बुकिंग आप घर बैठें कर सकते हैं. आइए जानते हैं कैसे-
1. सबसे पहले www.bookmyhsrp.com पर जाएं. 
2. यहां टू-व्हीलर, थ्री व्हीलर, फोर व्हीलर, भारी वाहन के विकल्प मिलेंगे. आप अपनी गाड़ी के हिसाब से इसका चयन करें. 
3. इसके बाद गाड़ी की कंपनी का चुनाव करें. 
4. कंपनी चुनने के बाद राज्य का विकल्प मिलेगा. वहां आप उत्तर प्रदेश का चुनाव कर सकते हैं. 
5. इसके बाद आपसे गाड़ी की पूरी जानकारी मांगी जाएगी. मांगी गई जानकारी को भरें. 
6.जानकारी भरने के बाद एक नई विंडो खुलेगी. इसमें गाड़ी की RC और आईडी प्रूफ अपलोड करना होगा. 
7. आपके मोबाइल पर ओटीपी आएगा. भरकर सब्मिट करें. 
8. इसके बाद पेमेंट का विकल्प सामने आएगा. पेमेंट करने के बाद आपको रसीद मिल जाएगी. फिर तय समय पर जाकर आप RTO ऑफिश जाकर नंबर प्लेट ले सकते हैं. 

बता दें, हाई सिक्योरिटी नंबर प्लेट (HSRP) के लगवाने से वाहन मालिकों को कई फायदे मिलेंगे. नंबर प्लेट से छेड़छाड़ और वाहनों के गलत इस्तेमाल करने पर रोक लगेगी. इसके अलावा गाड़ी चोरी होने पर पुलिस को खोजने में भी आसानी होगी. 

बिजनेस से जुड़ी अन्य खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

LIVE TV